Most 100+ Gulzar Shayari – Gulzar Quotes

gulzar shayari on zindagi
gulzar shayari on zindagi

Most 100+ Gulzar Shayari – Gulzar Quotes : Hello friends welcome to all of you. In another new post, in this post you will get to read Gulzar ji special poetry. This post contains Most 100 Gulzar Special Shayari. If you are a fan of Gulzar ji then you have come to the right place. We have searched Gulzar ji’s poetry from many places. We hope that you will definitely like the poetry of Gulzar ji. If you liked this post, then do comment below and tell how you liked this post.

Most 100+ Gulzar Shayari – Gulzar Quotes

Quotes On Life

1. घमंड ना करना जिंदगी में तकदीर बदलती रहती है,
आइना वही रहता है तस्वीर बदलती रहती है! ❤️

shayari on eyes by gulzar

gulzar shayari sad

2. लोग कहते हैं कि रंग पीला पड़ गया है तुम्हारा,
अब उन्हें क्या खबर की खून चुस्ती है यादे किसी की! ❤️

hello zindagi gulzar shayari

gulzar shayari on yaadein

3. आइना कब तक तोड़ो गे साहब,
मानते क्यू नहीं की धाग चहरे पर ही है!

shayari on zindagi by gulzar

Gulzar Motivational Quotes

4. जुबां तो खोल नजर तो मिला, जवाब तो दे,
मै कितनी बार लुटा हु मुझे हिसाब तो दे

zindagi gulzar hai shayari

gulzar shayari on zindagi

5. बेइज्जती का जवाब इतनी इज्जत से दो
की सामने वाला खुद जलील हो जाए

gulzar shayari sad in hindi

6. ऎसा नहीं है कि दिन नहीं गुज़रता या फिर रात नहीं होती,
बस सब कुछ अधूरा सा लगता है जब तुमसे बात नहीं होती

7. उसके साथ का सफर तो ख़तम हो गया,
बस जिंदगी ख़तम होना बाकी है 😒

8. सलीका तुमने पर्दे का बड़ा अनमोल रखा है,
ये निगाहें कातिल है और इन्हे ही खोल रखा है

gulzar ki yaadein shayari

9. मै तो सुकून की तलाश में घर से बाहर निकला था,
और रास्ते में वो मिल गयी

10. ए दोस्त,
कैसे बताऊँ तू मेरे लिए कितना खास है
दूर होकर भी मेरे दिल के कितने पास है
हर सुख दुख में एक तेरा ही तो साथ है!

shayari on smile by gulzar

11. नहीं निभाने हो तो रिश्ते मत बनाओ,
आपके समय बिताने के चक्कर मे कोई टूट जाता है

12. किसी की बुराई करने मे,
और किसी इंसान का सच बताने मे बहुत फ़र्क होता है

zindagi gulzar hai sad quotes

Read alsoBest 25+ Mirza Ghalib shayari

13. रात को कह दो कि जरा धीरे धीरे गुजरे,
बड़ी मिन्नतो बाद आज दर्द सोया है

14. अच्छा चलता हूँ,
मतलब पड़े तो याद करना

15. भाई – भाई कहने वाले सभी भाई नहीं होते,
कोई भाइयों की आड़ में कसाई भी होते हैं!

gulzar shayari on zindagi

16. जिसके हम खास, वो हमारा खास
नहीं तो ये जोड़े दो हाथ 🙏🙏

17. अकेला कैसे रहा जाता है,
कुछ लोग ये ही सीखाने आया करते हैं!

18. दर्द से डर नहीं लगता क्यूँकि दर्द को मेरे से डर लगता है,
जब ही तो हर बार दुगुना होकर के आता है मेरे को डराने के लिए

gulzar ji ki shayari

19. चाहे सो बार खफा हो तुमसे फिर भी जिंदगी सवार देता है,
जो बाप सुबह कहे निकल जा मेरे घर से वो पूरी रात तुम्हें ढूंढने में गुजार देता है

20. किनारा ना मिले तो कोई बात नहीं,
मुझे दुसरो को डूबा कर तैरना नहीं आता!

21. जिसके लिये मैंने सारी हदें तोड़ दी,
उसी ने आज मुझसे कहा कि अपनी हद मे रह कर बात किया करो

gulzar shayari quotes hindi

22. तेरे अलावा कोई नहीं है ये बोल कर वो मेरी जिंदगी में आयी थी,
और तेरे जैसे बहुत है ये बोल कर जिंदगी से चली गयीं!

23. ज्यादा बात नहीं करते, कभी भी देख लेना आजमा के,
इन्सान को परख लेते हैं आँख में आँख मिला के

24. कचरे के ढेर की भी जगह बदलती है,
हम तो फिर भी इंसान है,
समय ही तो है बदल ही जाएगा!

gulzar shayari in hindi on life

Read also – Best shayari on Life in Hindi For WhatsApp

25. खंजर से मारने वाला कोई उसका अपना ही था,
उसकी लाश जो छाव में पड़ी थी!

26. कमी मेरे मै भी बहुत है,
पर मैं दिल का बेईमान नहीं हूँ!

27. ये क्या बात हुयीं यार अकेला तूने छोड़ा,
और धोखेबाज़ तेरा पूरा शहर लगता है!

gulzar on yaadein

27. जूठा दोष लगने के बाद भी इंसान मरे बराबर हो जाता है

28. हर जगह तेरा ही कहर है,
तू इश्क नहीं जहर है!

29. मैं खुद के लिए ही अजनबी हू,
मुझे गैर कहने वाले तेरी बात में दम है!

good morning gulzar shayari

30. बेवजह खामोश नहीं हूँ,
कुछ तो बर्दाश्त किया होगा मैंने!

31. मैं तो बस एक मामूली सा सवाल हू जनाब,
यह तुम पर निर्भर करता है कि तुम सवाल का वर्णन करके किताब लिखते हो,
या सिर्फ़ हां और नहीं में उत्तर देते हो

32. जिंदगी जब मुश्किल समय में नाच नचाती है,
तो ढोलक बजाने वाले अपने ही जान पहचान के होते हैं

shayari on zindagi gulzar

33. आज याद आए उसके आखिरी बोल,
कुछ यू थे कि अगर जी सके तो जी लेना बाकी मर जाएगा तो और भी बढीया रहेगा

34. नियम उसने तोड़े,
और रातों को रो रो कर चालान मैंने भरा!

35. हालत ऐसी हो रही है कि,
मेरे अपने घर वालों को भी नहीं पता कि
क्या हालत हो रही है!

36. किस्मत को बेकार बोलने वालों,
कभी किसी गरीब के पास बैठ कर पूछना जिंदगी क्या है

gulzar motivational quotes in hindi

Read also WhatsApp good morning suvichar in Hindi

37. भरोसा तो साँसों का भी नहीं है,
और देख भरोसा मैं तेरे पर करता हूं!

38. ताश में जोकर और चाहत में ठोकर
अक्सर बाजी गुमा देती है!

39. मर भी जाऊ तो गम नहीं है साहब,
पर डर कर जीना का शोक मुझे भी नहीं

gulzar quotes on zindagi

40. पहले वो बेपनाह बाते किया करते थे,
आज वो बेपरवाह होकर बात करते हैं,
अब वो बेइंतहा मोहब्बत ना रही!

41. इश्क का जुआ खेल चुके हैं हम,
वो रानी किसी और की जोकर बन गए हैं हम

42. एक चॉकलेट अपनी माँ के लिए भी ले जाकर देखना
उसमे से आपको आधी वापस जरूर मिलेगी जनाब

gulzar ki kavita in hindi

43. अगर कीमत होती मेरे आँसुओं की तो तकिया भी बिकता लाखों का,
इस जालिम दुनिया को कैसे बताऊँ ये राज है रोती आँखो का

44. मैं भूल जाऊंगा और वो भी तुम्हें,
बड़ी अजीब भूल है तुम्हारी!

45. तुमसे मिलकर ऐसा लगा मानों भटकते मुसाफ़िर को राह मिल गई….
ना जाने कब चलते चलते तुम्हारे साथ जन्नत की राह मिल गयी!….

gulzar shayari on yaadein

46. स्कूल का बैग फिर से थमा दे माँ,
ज़िंदगी का बोझ उठाना मुश्किल है!

47. यक़ीन था भूल जाओगे एक दिन,
खुशी हुयी उम्मीद पर पूरे उतरे!

48. जरूरी नहीं कि हर बात में तू मेरा कहा माने,
कदमों में रख रखी है चाहत आगे तू जाने

zindagi gulzar hai shayari image

Visit also : Best 50+ sad Shayari With Images

49. इश्क में मुझे ठुकराने की वजह वाजिब लगती है,
सच ही है , गरीबों के आशियानों में परियाँ नही आती…

50. जलते हुये इस “दीपक” को बुझा तो दिया,
अंधेरा जब हुआ तो फिर तू घबराया खूब !!

51. एक दिन ऐसा भी आया ज़िंदगी में की
मैंने तेरा नाम सुन कर मुस्कुराना ही छोड़ दिया

shayari on ishq by gulzar

52. आज मेरी कलम ने लिख दिए अल्फाज़ अधूरे
मैं खुद भी हैरान हू इस कहानी से!

53. सोचा था लिखूंगा तेरे और मेरे वफ़ा के किस्से,
पर यार तूने तो स्याही में ही बेवफ़ाई घोल दी!

54. बेपनाह चाहने से लेकर बेपरवाह
हो जाने तक का सफर इश्क होता है!

gulzar zindagi shayari

55. मेरा पूरा दिन सुस्ती में ही बीत जाता है,
पर जब तुम से मिलता हूँ तो ये दिल स्वस्थ हो जाता है
शायद ये ही इश्क़ है

56. हो नसीब में तुम पता नही हमे
बस एक उम्मीद पे जीता हुँ।

57. आने वाले जाने वाले हर ज़माने के लिए
आदमी मज़दूर है राहें बनाने के लिए

shayari on barish gulzar

58. तेरी तस्वीर से भी अब मै सवाल पूछता हूं,
मत पूछ की अब किस किस से मै तेरा हाल पूछता हूँ!

59. मैंने कभी ये चाहत नहीं रखी कि बड़े आदमी मेरे दोस्त बने,
मगर ये चाहत हमेशा रही है कि मेरे सारे दोस्त बड़े आदमी बने!

60. उम्र छोटी है तो क्या जिंदगी का हर मंजर देखा है,
फरेबी मुस्कुराहटे देखी है, बगल में खंजर देखा है!

gulzar shayari on eyes in hindi

61. फिर तुझे कोई और गवारा कैसे हुआ,
मुझे तो नहीं हुआ तुझे ये इश्क़ दोबारा कैसे हुआ।

62. अपनों से ही सीखा है,
कोई अपना नहीं होता!

63. लफ्ज तो खामोश हो गए तुमसे बात करते-करते,

अब आंसुओं को जिद है तुमसे बात करने की …!

gulzar shayari on smile

64. क्या बताऊं उसकी बाते कितनी मीठी है,
सामने बैठ कर फीकी चाय पीता रहता हूं….

65. तोड़ेगे गुरूर इश्क़ का इस कदर सुधर जाएंगे,
खड़ी रहेगी मोहब्बत रास्ते में हम सामने से गुजर जायेंगे!

66. मिजाज में थोड़ी सख्ती जरूरी है जनाब,
लोग पी जाते अगर समुंदर खारा ना होता!

shayari on eyes gulzar

67. उसको भी मोहब्बत तो है मुझसे,
आज वो चाय बनाना सीख रही थी!

68. मुश्किल होता है जवाब देना,
जब खामोश रह कर भी सवाल पूछ लेते हैं!

69. पूरे की ख़्वाहिश में ये इंसान बहुत कुछ खोता है ,
भूल जाता है की आधा चाँद भी ख़ूबसूरत होता है…!!!

zindagi shayari by gulzar

70. अक्सर हम तेरे प्यार के नग़मे गुनगुनाते हैं,
होंठ मुस्कुराते है जब चाय का कप उठाते हैं…!!

71. रखते थे होठों पे उंगलियां जो मरने के नाम से
अफसोस वही लोग मेरे दिल के कातिल निकले

72. होता होगा तुम्हारे यहां घड़े का पानी मीठा,
हमारे यहां आज भी इश्क़ से मीठा कुछ नहीं!

zindagi gulzar hai lyrics in hindi

73. सुनो
आप महज़ मिलने का हमसे बहाना तो ढूंढ लो
दुनिया की नजरों में इसे इत्तफ़ाक़ हम साबित कर देंगे…

74. उसकी बेवफ़ाई की हद तो देखो…..
वो मेरे से मिलने आती है किसी और की दी हुयी पायल पहन कर!

75. कोई अजनबी खास हो रहा है,
लगता है फिर से मुझे प्यार हो रहा है!

gulzar shayari on barish

76. जिंदगी ने सवाल बदल दिए, समय ने हालत बदल दिए,
हम तो वही है यारों पर लोगो ने अपने ख़्याल बदल दिए!

77. जिंदगी जीना है तो तकलीफ उठानी पड़ेगी ही,
वरना मरने के बाद जलने का एहसास तक नहीं होता!

78. नजरों का खेल ही तो था सरकार……
तुम चुरा ना सकी और हम हटा नही सके !!

gulzar shayari on rishtey

79. तुझको पाने की ख्वाहिश दिल मे लेकर घूम रहे है,
बस अपनी हकीकत से यूँ ही रोज मुह मोड रहे है!

80. तुम बस चलते जाओ..
या तो मंजिल मिल जाएगी या मुसाफिर बन जाओगे

81. इम्तिहान में आए मुश्किल सवाल सा हू मैं
हर किसी ने मुझे छोड़ा है बिना समझे ही!

sad shayari of gulzar

82. मोहब्बत को बुरा क्यू कहु जब किस्मत ही मेरी खराब है,
वो जा रहे हैं तो जाने दो, मेरे पास मेरी शराब है!

83. तुझे पा ना सके तो सारी जिंदगी तुझे प्यार करेंगे,
जरूरी तो नहीं जिसको पाया नहीं जा सके उसे छोड़ दिया जाए

84. आसानी से टूट जाऊ, वो इंसान थोड़ी ना हू,
सब को पसंद आ जाऊ, चाय थोड़ी ना हू!

zindagi gulzar shayari in hindi

85. इतने बड़े तो हो गए साहब की कोई चोट लगे तो सहन कर सके,
मगर मेरे माँ पापा को कोई दुख हो तो मेरी आत्मा तक चुप नहीं रहा जाता!

86. इस शहर की चकाचौंध में,
हम वो गाँव का सुकून गवा बैठे

87. अफवाहों के धुएं वहीं से उड़ते हैं,
जहां तुम्हारे नाम की आग लगी हो!

गुलजार की दो लाइन शायरी

88. दर्द को मुस्कुरा कर सहना क्या सीख लिया,
लोग सोचते है कि इसको तो तकलीफ ही नहीं होती!

89. सूरज के सामने कभी रात नहीं होती,
श्मशान में जाने के बाद मुलाकात नहीं होती

90. लोगों को देख कर मत आंका करो जनाब,
तुम्हें नहीं पता कि वो खुद के अन्दर
कैसी जंग लड़ रहे हैं

gulzar shayari on ishq

91. कुछ हार गयी तकदीर कुछ टूट गए सपने,
कुछ गैरों ने बर्बाद किया कुछ छोड़ गए अपने!

92. मतलब कि दुनिया थी छोड़ दिया सब से मिलना,
वर्ना ये छोटी सी उम्र तन्हाई के काबिल ना थी!

gulzar shayari on zindagi in hindi

93. वो जो ख्वाब था मेरे दिल में ना मैं कह सका ना मैं लिख सका,
जुबा मिली तो कटी हुयी कलम मिली तो बिकी हुयी

94. “पूरी दुकान बिक जायेगी मुँह-मांगी कीमत पर,
जिस दिन दर्द-ए-दिल की दवा बाज़ार में आयेगी !!”

95. कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को,
याद वही आते हैं, जो उड़ जाते हैं…!

ishq shayari by gulzar

96. प्यार कब किसका पूरा होता है,
इसका तो पहला अक्षर ही अधूरा होता है!

97. माना कि आज तक मेरे को किसी का दिल जीतना नहीं आया,
मगर ये तो बताओ कि यहां दिल है किसके पास!

98. आज परेशान हू कल सुकून आएगा,
खुदा तो मेरा भी है कब तक रुलायेगा!

sad shayari by gulzar

99. वो पैरों में काला धागा नहीं पहनती साहेब..
केवल पायल पहन कर ही कहर ढाती है……..!

100. जिस दिन मोहब्बत जतानी हो उसे,
उस दिन काजल गहरा लगाती है वो!

zindagi gulzar hai shayari images

Most 100+ Gulzar Shayari – Gulzar Quotes : Thank you all for reading this far. If you liked the post, don’t forget to share it.